ALL विशेष कविता सिंचाई समाचार कहानी पशुपालन कृषि बागवानी घाघ भण्डारी की कहावतें कृषि समाचार
उत्तर प्रदेश में अब तक 522 ट्रेनों  से लगभग 6,65,369 प्रवासी कामगार एवं श्रमिक पहुंचे घर 
May 17, 2020 • डा. शरद प्रकाश पाण्डेय • समाचार

अपर मुख्य सचिव  गृह एवं सूचना ने बताया कि देश में सबसे अधिक प्रवासी कामगार उत्तर प्रदेश में आये हैं। प्रदेश में अब तक 522 ट्रेन के माध्यम से लगभग 6,65,369 प्रवासी कामगार एवं श्रमिक आये हैं। प्रदेश में आज अन्य प्रदेशों से कामगारों/श्रमिकों को लेकर 87 ट्रेन और आ रही हैं। लगभग 250 और ट्रेन की सहमति दे दी गई है। उन्होंने बताया कि कल रिकार्ड 1.50 लाख लोग प्रदेश में आये हैं इस प्रकार अब तक प्रदेश में 16.50 लाख से अधिक कामगार,श्रमिक प्रदेश में आये हैं।  गोरखपुर में अब तक 79 टेªन से 92,298 कामगार एवं श्रमिक आये हैं। उन्होंने बताया कि हरियाणा और राजस्थान से प्रतिदिन 150 से 200 बसें चलाई जा रही हैं। लखनऊ में 45 ट्रेन के माध्यम से 55 हजार लोग आए हैं। वाराणसी में 27 ट्रेनें  आ चुकी हैं। गोण्डा में 37 ट्रेन , उन्नाव और बस्ती में 20-20 ट्रेन जबकि अयोध्या में 16 व आजमगढ़ में 15 ट्रेन आ चुकी हैं। उन्होंने बताया कि प्रवासी श्रमिकों को लाये जाने हेतु उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही ट्रेन में श्रमिकों का किराये का खर्च प्रदेश सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रेलवे विभाग को कल तक 06 करोड़ रू0 का भुगतान कर दिया गया है तथा 20 करोड़ रू0 और भुगतान शीघ्र कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में गुजरात से 250 ट्रेन से 3,35,000 लोग, महाराष्ट्र से 121 ट्रेन से 1,50,000 लोग, पंजाब से 91 ट्रेन से 01 लाख से अधिक लोग आ चुके हैं। तेलंगाना से 07, केरल से 06, तमिलनाडु से 05, आन्ध्र प्रदेश से 02, मध्य प्रदेश से 02, राजस्थान से 15, गोवा से 02 ट्रेन प्रवासी कामगारों,श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आ चुकी हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली से 11 ट्रेन प्रतिदिन प्रदेश के विभिन्न भागों में आयेगी। यूपीएसआरटीसी की 10 हजार बसों के माध्यम से प्रवासी कामगारों,श्रमिकों को उनके गृह जनपद में भेजने की व्यवस्था की गई है। छत्तीसगढ़ राज्य से पहली ट्रेन प्रदेश में आई है। उन्होंने बताया कि पूर्वाेत्तर राज्यों एवं उड़ीसा से शीघ्र ही ट्रेन चलाये जाने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन को  प्राइवेट वाहनों को अधिकृत करने के निर्देश दिए गये हैं। सभी जिलाधिकारियों को 200 से अधिक ऐसे वाहनों को अधिकृत करने के निर्देश दे दिए गये हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं भी, किसी भी जनपद में कोई पैदल यात्रा न करे। प्रवासी कामगार,श्रमिक स्वयं तथा अपने परिवार को जोखिम में डालकर पैदल अथवा अवैध व असुरक्षित वाहन से घर के लिए यात्रा न करें। सरकार समस्त प्रवासी श्रमिकों,कामगारों के लिए सुरक्षित यात्रा हेतु पर्याप्त बस एवं ट्रेन की व्यवस्था कर रही है।