ALL विशेष कविता सिंचाई समाचार कहानी पशुपालन कृषि बागवानी घाघ भण्डारी की कहावतें कृषि समाचार
उत्तर प्रदेश की 08 बड़ी नदियों के रिवर बेसिन प्लान स्वीकृत
March 18, 2020 • डा. शरद प्रकाश पाण्डेय • सिंचाई
उत्तर प्रदेश की 08 मुख्य नदियों-गोमती, घाघरा, राप्ती, गण्डक, रामगंगा, गंगा, यमुना एवं सोन के रिवर बेसिन प्लान स्वीकृत किये जाने के लिए प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन की अध्यक्षता में 09 सदस्यीय समिति गठित की गई है।
सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन की ओर से 17 मार्च, 2020 को जारी शासनादेश में कहा गया है कि राज्य जल संसाधन अभिकरण (स्वारा) द्वारा प्रदेश की 08 बड़ी नदियों का बेसिनवार प्लान पर स्वीकृति प्रदान करने के लिए 08 जुलाई, 2019 द्वारा गोमती रिवर बेसिन प्लान तथा 22 नवम्बर, 2019 के आदेश द्वारा 07 नदियों के बेसिन प्लान पर स्वीकृति प्रदान किये जाने के लिए मुख्य सचिव उ0प्र0 की अध्यक्षता में 11 सदस्यीय समिति गठित की गयी थी।
सम्यक विचार के उपरान्त 08 जुलाई, 2019 तथा 22 नवम्बर, 2019 को जारी शासनादेश को अवक्रमित करते हुए बेसिन प्लान स्वीकृत करने के लिए समिति को पुनर्गठित किया गया है। इस समिति में प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन को अध्यक्ष बनाया गया है। इसके अलावा प्रमुख सचिव कृषि, प्रमुख सचिव नमामि गंगे, प्रमुख सचिव नगरविकास, प्रमुख सचिव पर्यावरण एवं वन, जलवायु परिवर्तन, प्रमुख सचिव एम.एस.एम.ई. एवं निर्यात प्रोत्साहन, प्रमुख सचिव ऊर्जा, प्रमुख सचिव पशुपालन द्वारा नामित विशेष सचिव सदस्य बनाये गये हैं। इसके अलावा प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष सिंचाई विभाग को सदस्य तथा मुख्य अभियन्ता जल संसाधन को सदस्य,संयोजक बनाया गया है।
इन नदियों के रिवर बेसिन प्लान पर स्वीकृति प्रदान किये जाने के लिए समय-समय पर प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन की अध्यक्षता में आयोजित की जाने वाली बैठकों की तैयारी दिनांक, समय तथा स्थान निर्धारित करते हुए सदस्यों को सूचित करने तथा बैठक की कार्यसूची उपलब्ध कराये जाने के संबंध में कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए सदस्य/संयोजक मुख्य अभियन्ता, जल संसाधन सिंचाई विभाग को जिम्मेदारी सौंपी गयी है।