ALL विशेष कविता सिंचाई समाचार कहानी पशुपालन कृषि बागवानी घाघ भण्डारी की कहावतें कृषि समाचार
पी0एल0जी0सी0 एवं एल0जी0सी0 नहरों ने 74 प्रतिशत एवं 93 प्रतिशत की प्रगति
January 10, 2020 • डा. शरद प्रकाश पाण्डेय • कृषि समाचार
उ0प्र0 जल शक्ति डा0 महेन्द्र सिह की प्रेरणा व प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन श्री टी0 वेंकटेश के कुशल मार्गदर्शन में (अक्टूबर, 2019 से दिसम्बर, 2019) पी0एल0जी0सी0 एवं नवम्बर से दिसम्बर, 2019 तक की समय अवधि में निचली गंगा नहर की शाखाओं (एल0जी0सी0 ब्रांच) ने क्रमशः 74 प्रतिशत एवं 93 प्रतिशत की प्रगति कर नया कीर्तिमान बनाया हैं। जल शक्ति मंत्री  मोहनलालगंज सिधौली, बक्शी का तालाब तथा हरदोई जनपदों में जाकर नहर की सिल्ट सफाई कार्यो का शुभारम्भ करके शत-प्रतिशत सफाई करने के निर्देश दिये थे। इसी क्रम में पूरे प्रदेश में सिल्ट सफाई के लिए 15 दिसम्बर, 2019 तक युद्ध स्तर पर अभियान चलाया गया।
यह जानकारी देते हुए सिंचाई विभाग की महात्वाकांक्षी विश्व बैंक सहायतित परियोजना यू0पी0डब्लू0एस0आर0पी0 द्वितीय चरण (उत्तर प्रदेश वाटॅर सेक्टर रिस्ट्रक्चरिंग परियोजना द्वितीय चरण) के मुख्य अभियन्ता श्री ए0के0 सेंगर ने बताया कि सितम्बर, 2019 में आयोजित परियोजना की समीक्षा बैंठक में प्रमुख सचिव सिंचाई श्री टी0 वेंकटेश ने जल शक्ति मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह के निर्देर्शो के अनुपालन में सभी संगठनो को सख्त हिदायत दी थी कि निर्धारित लक्ष्यों को समय-सीमा के अन्दर पूर्ण करें, जिससे परियोजना के उद्देश्यों  के अनुसार जल उपलब्धता  एवं फसल उत्पादन में अधिकतम  प्रगति हासिल हो सकें। 
इसी क्रम में अक्टूबर से दिसम्बर, 2019 के अन्तराल में रामगंगा संगठन द्वारा अथक प्रयास करके समान्तर निचली गंगा नहर (पी0एल0जी0सी0) के उद्गम स्थल-नरौरा हेडवर्कस जनपद बुलन्दशहर की लाइनिंग कार्य में 74 प्रतिशत की प्रगति कर उत्कृष्ट परिणाम प्राप्त किये हैं। इस का मुख्य उद्देश्य प्रदेश सरकार किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त जल उपलब्ध कराकर कृषि उत्पादन में बढ़ोत्तरी करना है, जिससे प्रदेश का किसान खुशहाल हो सके। उन्होंने  बताया कि राज्य सरकार किसानों के लिए समर्पित है और सिंचाई के लिए भरपूर पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जा रही है।
श्री संेगर ने  यह भी बताया कि इसी तरह परियोजना क्षेंत्र की निचली गंगा नहर (एल0जी0सी0) की शाखाओं में नहर बंदी अवधि में माह नवम्बर, 2019 से दिसम्बर, 2019 तक आन्तरिक सेक्शनों में मिट्टी खुदाई कार्य के अपने कुल लक्ष्य 793.00 किमी के सापेक्ष 737.00 किमी मिट्टी खुदाई का कार्य पूर्ण कर 93 प्रतिशत की ऐतिहासिक उपलब्धि प्राप्त की है। श्री सेंगर ने यह भी बताया कि इससे जनपद एटा, फिरोजाबाद, कासगंज, मैनपुरी, फर्रूखाबाद, इटावा, औरैया, कानपुर देहात व कानपुर नगर एवं फतेहपुर एवं कौशाम्बी जनपद लाभान्वित होंगे। श्री सेंगर के अनुसार समानान्तर निचली गंगा नहर (पी0एल0जी0सी0 एवं एल0जी0सी0) के कार्यो को हर दशा में जून, 2020 तक पूर्ण कर लिया जायेगा। जिससे सरकार के संकल्प ‘‘हर खेत को मिले पानी’’ को साकार किया जा सकेगा। मुख्य अभियन्ता, पैक्ट ने बताया कि इससे एक लाख बीस हजार हेक्टेयर कृषि  क्षेंत्र में अतिरिक्त सिंचन क्षमता की वृद्धि होगी जो किसानों के लिए वरदान सिद्ध होगी।