ALL विशेष कविता सिंचाई समाचार कहानी पशुपालन कृषि बागवानी घाघ भण्डारी की कहावतें कृषि समाचार
दलहनी फसलों में राईजोबियम का टीका 
October 10, 2019 • डा. शरद प्रकाश पाण्डेय


दलहनी फसलों में राईजोबियम कल्चर का टीका अति आवश्यकक है। इसका टीका लगाने से सभी दलहनी फसलों में लगाया जाता परन्तु टीका अलग-अलग फसल के लिए अलग-अलग होता है । टीका लग जाने से राईजोबियम कल्चर के जीवाणुओं की संख्या कई गुना बढ़ जाती है तथा जीवाणुवों की क्रियाशीलता बढ़ती जाती है जिसके कारणे वे वयुमंडल से ज्याद से ज्यादा मात्रा में नाइट्रोजन को अवषोशित करके पौधों की जड़ों में विद्यमान ग्रन्थियों में स्थिर करते है जोकि सीधे दलहन फसल के पौधों को मिलती है तथा बाद में उगाई जाने वाली फसल का उपज बढ़ाने में भी बढ़ोत्री होती है ।


राईजोबियम कल्चर किन फसलों के लिए अति  आवश्यक
राईजोबियम कल्चर का प्रयोग दलहनी फसलों में अति आवश्यक है वे इस प्रकार है दृ मटर, बरसीम,  चना, मसर, रिजका, मूंग, उडद, लोबिया, अरहर, ग्वार, सोयाबीन, तथा मूंगफली। प्रत्येक फसल का टीका में भिन्नता होती है।
राईजोबियम टीका लगाने की तकनीक 
राईजोबियम कल्चर का प्रयोग बीज की साथ बुआई के समय इस प्रकार से करना लाभदायक हेाता है।
1. 50 ग्राम गुड़ अथवा शक्कर को 300 ग्राम पानी में घोल बनाकर , पानी की मात्रा बीज की मात्रा के अनुसार कम - ज्याद करके प्रयोग किया जाता  है।


2. एक एकड़ क्षेत्रफल में  प्रयोग होने वाले बीजों को साफ फर्श अथवा तिरपाल पर बिछा लेंते है।
3. गुड़ के घोल को धीरे-धीरे बीजों पर डालते है  उसके बाद घोल को बीज के साथ अच्छी तरह से मिलाते है अगर  घोल कम पड़ें तो मात्रा बढ़ा लेंना चाहिये।
4. इसके बाद राईजोबियम कल्चर की थैली को खोलकर कला पाउडर बीजों पर छिड़कें और हाथ से अच्छी तरह मिलाएं जिससे सारे बीजों के ऊपर पर काले पाउडर का लेप चढ़ जाए।
5. राईजोबियम कल्चर से उपचारित बीजों को छायेदार स्थान में 4-6 घण्टे सुखाने के बुआई करना चाहिये।