ALL विशेष कविता सिंचाई समाचार कहानी पशुपालन कृषि बागवानी घाघ भण्डारी की कहावतें कृषि समाचार
आम की उन्नत किस्मों की प्रदर्शनी
July 1, 2020 • डा. शरद प्रकाश पाण्डेय • समाचार

उत्तर प्रदेश के माननीय कृषि मंत्री श्री सूर्यप्रकाश शाही एवं बागवानी मंत्री श्री  श्रीराम चौहान जी ने केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान द्वारा आयोजित की गई आम की उन्नत किस्मों की प्रदर्शनी एवं बागवान मित्र एप का लोकार्पण कियासोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए 50 से अधिक किसानों एवं उद्यमियों ने भाग लिया| प्रदर्शनी में संस्थान द्वारा विकसित विभिन्न  प्रौद्योगिकियों का प्रदर्शन किया गयाइसके अतिरिक्त किसानों एवं उद्यमियों ने भी अपने फलों तथा विकसित किये गए मूल्य संबंधित  उत्पादों को प्रदर्शनी में लगायासमुदाय आधारित संगठनों जैसे अवध आम उत्पादक बागवानी समिति, आम जैव विविधता संरक्षण समिति, सहभागिता एवं स्वालंबन जैसे स्वयं सहायता समूह, लिटिल नेचर प्राइवेट लिमिटेड एवं स्वीट वेल जैसे  उद्यमियों जिनको संस्थान द्वारा प्रशिक्षण दिया गया, अपने अपने उत्पादों के साथ उपस्थित थेइस कार्यक्रम के दौरान माननीय कृषि मंत्री ने बागवान मित्र नामक मोबाइल ऐप का भी विमोचन किया|इस ऐप से किसान संस्थान में आए बिना ही अपनी समस्याओं से वैज्ञानिकों को अवगत करा सकते हैं|इसके लिए उन्हें मोबाइल पर टाइप आना जरूरी नहीं हैउनके द्वारा बोले गए वाक्यों को बागवान मित्र एप संस्थान के सरवर द्वारा वैज्ञानिकों तक पहुंचाने में सहायक होगा|किसानों द्वारा ऐप से भेजी फोटो वैज्ञानिकों को निर्णय लेने में सहायता प्रदान करेंगीइसमें भी बहुत से नए आयाम जोड़ने का प्रयास करके इसे किसानों एवं सभी बागवानी से संबंधित विधायकों के लिए उपयोगी बनाने का कार्य निरंतर किया जाएगा|

संस्थान द्वारा 100 से ऊपर किस्मों का प्रदर्शन किया गयाडॉ राजन ने बताया कि संस्थान ने 750 से भी अधिक किस्मों का संकलन एवं संरक्षण किया है जो कि उत्तर प्रदेश से ही नहीं वरन भारत तथा विदेश के विभिन्न आम उत्पादन करने वाले क्षेत्रों से लाई गई हैइस अवसर पर कृषि मंत्री द्वारा प्रगतिशील किसानों एवं उद्यमियों को भी सम्मानित किया गयाआम से बनाई गई विशेष प्रकार की आइसक्रीम जिसमें आम और कुल्फी दोनों का ही मजा हो का प्रदर्शन संस्थान के उद्यमी ने कियास्वालंबन समूह की महिलाओं ने कोरोना काल में बनाए गए अपने उत्पादों एवं भविष्य की योजनाओं के संबंध में मंत्री महोदय को जानकारी दीआई टी छोड़कर बागवानी के क्षेत्र में आए हुए उद्यमी श्री पुलकित सिंह ने संस्थान के सहयोग से दशहरी आम के फल के पल्प को संरक्षित करने के लिए विकसित की गई तकनीक का प्रदर्शन कियास्वालंबन की महिलाओं ने भी अपने घरेलू स्तर पर दशहरी पल्प के संवर्धन हेतु आगे कदम बढ़ाया है जिसे पुलकित सिंह जैसे उद्यमियों द्वारा मूल्य संवर्धित पदार्थों में बदल कर दशहरी पल्प के नए बाजार को बनाने में सहायता मिलेगी|