ALL विशेष कविता सिंचाई समाचार कहानी पशुपालन कृषि बागवानी घाघ भण्डारी की कहावतें कृषि समाचार
डी-कम्पोजर किसान के लिए संजीवनी बूटी’
May 21, 2019 • शरद प्रकाश पाण्डेय


न कोई खाद,न पेस्टिसाइड,न फफूंदनाशी सिर्फ डीकम्पोजर '
डिकम्पोजर 'जैविक कृषि अनुसंधान केंद्र' द्वारा बनाया गया अपशिष्ट विघटनकारी है इसके साथ साथ यह .कृषि की एक नई विधि भी है जो पूर्ण रूप से जैविक है किसानों की लागत को आधा करती है , पेस्टिसाइड पर होने वाले खर्च को बहुत कम कर देती है । 'एग्रोकोन्नेक्ट' जैविक कृषि अनुसंधान केंद्र से इस प्रोडक्ट की उपलब्धता बढ़ाने के लिए waste डिकॉम्पोजर उपलब्द कराएगा ।
डिकम्पोजर बनाने की विधि
1.एक ड्रम या टंकी मैं 200 लीटर पानी ले उसमें 2 कग पुराना गुड़ अच्छे से मिलाये
2. अब डिकॉम्पोजर की एक बोतल का मटेरियल पानी मे डाले और पानी को किसी लकड़ी की सहायता से चला दे, हाथों से डिकॉम्पोजर को न छुए ।
3. अब प्रतिदिन सुबह शाम घोल को लकड़ी की सहायता से थोड़ा सा करीब 1 मिनट चलाये । 7 दिनों मैं आपका घोल कुछ कुछ मिट्टी की तरह का रंग लिए हुए तैयार हो जाएगा ।
'कंपोस्ट बनाने की विधि'
छायादार स्थान पर प्लास्टिक सीट बिछाकर उसपर 20 बउ पतली गोबर व् कृषि अपशिष्ठ की 1 टन की परत बिछा दे इस पर तैयार घोल का छिड़काव करें व पेस्ट मैं 60ः नमी बनाए रखे डिकॉम्पोजर का छिड़काव हर 7 दिन के अंतर पर करें 40 से 50 दिनों मैं आपका कम्पोस्ट तैयार हो जाएगा ।
'डिकॉम्पोजर सिर्फ विघाटनकर्ता नही है इसके और भी कई प्रयोग है'
Bio पेस्टिसाइड के रूप मैं
30 लीटर डिकॉम्पोजर 70 लीटर पानी मैं मिलाकर इस सलूशन के स्प्रे करने से इससे विभिन्न प्रकार की मर्दा जनित ,जीवाणु जनित रोगों से बचा जा सकता है इसका छिड़काव करें 10 दिन के अंतर पर करते रहना चाहिये
कीट प्रबंधन
कीटो से बचाव हेतु व कीट लगने की अवस्था मे 1रू1 के हिसाब से डिकॉम्पोजर का स्प्रे करें सभी प्रकार के कीटों व mite पर इसके प्रभाव है
sprinkler vidhils सिंचाई करने वाले किसान 200 लीटर डिकॉम्पोजर को स्प्रिंकलर द्वारा दे सकते है
Drip irrigation 200 लीटर सोलुशन को 1 एकड़ खेत मे आवश्यकता अनुसार पानी मे मिक्स करके ड्रिप मैं चलाये
बीज उपचार विधि
डिकॉम्पोजर के सोलुशन को बीज एक शीट बार फैलाकर स्प्रे करें 30 उपद छाया मैं सुखाये । पौधों मैं बीमारियों की रोकथाम के लिए 1रू3 का सोलुशन यानी 1 भाग डिकॉम्पोजर सोलुशन मैं 3 भाग पानी मिलाकर स्प्रे करें
डिकॉम्पोजर के प्रयोग से बैक्टरियल व फंगल बीमारियों पर सफलता मिली है कुछ के नाम
Damping off disease of chilli] tomato] brinjal] peanut]potato] soyabean]maze] cabbage] broccoli]etc
Rhizomes root disease off ginger ] onion ] turmeric etc
Root rot dieseas ]wilt diseaseSheath blight dieseas
It can be controlled इल डिकम्पोजर
डिकॉम्पोजर प्रयोग करने वाले किसान के खेत मैं कोई भी रोग का प्रकोप नही देखा गया
डिकॉम्पोजर सभी पोषक तत्वों को पोधो को उपलब्ध करवाता है इसके प्रयोग के साथ कोई भी फर्टिलाइजर की आवश्यकता नही है वाट्स एप से साभार