ALL विशेष कविता सिंचाई समाचार कहानी पशुपालन कृषि बागवानी घाघ भण्डारी की कहावतें कृषि समाचार
अभी नही मिलेगी वर्षा से राहत
September 28, 2019 • डा. शरद प्रकाश पाण्डेय


लखनऊए जेएनएन। उत्तर प्रदेश में बीते 10.12 दिन से जारी बारिश अब और तेज होगी। उत्तर प्रदेश के सोलह जिलों में भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है मौसम विभाग के अनुसार उत्तर प्रदेश में बारिश अभी 12 अक्टूबर राहत नही मिलने वाली है। मौसम विभाग को इसको लेकर चेतावनी भी जारी कर दी है। मौसम विभाग ने प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ कन्नौजए लखीमपुर खीरी, सीतापुरए रायबरेलीए अमेठीए सुल्तानपुरए बाराबंकीए गोंडा, बहराइचए श्रावस्तीए संतकबीरनगर अयोध्या, सिद्धार्थनगर, बस्ती अंबेडकरनगर उन्नाव, कानपुर तथा पास के क्षेत्र में मध्यम से भारी बारिश की चेतानवनी जारी की है। मौसम विभाग की इस चेतावनी के बाद से जिला प्रशासन ने इंतजाम करना शुरू कर दिया है। मौसम विभाग के इस एलर्ट गम्भीरता सेलेते हुए उपरोक् जनपदों के जिलाधिकारियों ने बारहवीं तक के सभी स्कूल कालेजो में वर्शा अवकाष घोशित कर दिया है।


वाराणसी सहित पूर्वांचल में गुरुवार की सुबह भी बारिश हुई। इससे पहले बुधवार की रात को रिमझिम फुहार होती रही। इसके कारण ठंड का भी असर बढ़ गया। लोग एसी व कूलर की बजाय अब पंखे की हवा पर आ गए हैं। वहीं मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि 27 एवं 28 सितंबर को तेज बारिश होगी। बंगाल की खाड़ी से तेज नम हवा पूर्वांचल में आ रही है। इसी का असर है कि रूक.-रूक कर यहां बरसात हो रही है। प्रसिद्ध मौसम विज्ञानी प्रो एसएन पांडेय के अनुसार बारिश का आलम 29 सितंबर तक यही रहेगा। इस बीच 27 व 28 सिंतबर को पूर्वांचल के विभिन्न हिस्सों में झमाझम बारिश हो सकती है। उधर भारतीय मौसम अनुसंधान संस्थान के अनुसार अभी 12 अक्तूबर तक मौसम इसी प्रकार बना रहेगा। घने बादल छाये रहेंगे और यत्र तत्र मध्यम से जोरदार बारिश होने की संभावना है।


अगर तेज बारिश हुई तो इस बार ठंडी का मौसम भी जल्दी शुरू हो सकता है। वैसे भी तापमान लगातार गिरते जा रहा है।
सुल्तानपुर जिले में लगातार हो रही बारिश से अनहोनी की आशंका से जिला प्रशासन हुआ मुस्तैद। लगातार 4 दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश में चलते जिलाधिकारी सी इंदुमति  ने एलर्ट को लेकर गम्भीरता से लेते आम जनमानस से अपील की है कि यदि जनपद में बारिश आपदा से कोई हो रहा है पीड़ित तो कंट्रोल रूम नम्बर 05362-240202,05362-240203 पर अपनी शिकायत कराए दर्ज,राहत कार्य टीम मौके पर पहुँच करेगी हर संभव मदद,जिलाधिकारी के निर्देश अनुसार जिले के सभी लेखपालों को अपने अपने क्षेत्रों में सक्रिय रहने का आदेश हुआ है जारी,जर्जर मकानों के आकलन कर उन्हें खाली कर सुरक्षित स्थान पर जाने को कहे हल्का लेखपाल,जिले के हर गाँव मोहल्ले में लेखपाल रहे सक्रिय अगर कही हुआ हो जलभराव तो उसकी निकासी का तत्काल करे इंतजाम,अगर किसी के कच्चे मकान गिरने की मिलती है सूचना तो मौके पर पहुँच क्षति का आकलन कर जिला प्रशासन को तत्काल करे सूचित जल्द से जल्द मिलेगी आर्थिक मदद, अगर बारिश आपदा में किसी के जीव जंतुओं का भी होता है नुकसान तो कंट्रोल रूम नम्बर पर कर सकता है सूचित,जिले के सभी उपजिलाधिकारी,तहसीलदार,नायब तहसीलदार, कानून गो,लेखपाल को किया गया है निर्देशित ,हर गाँव मोहल्ले में राहत टीम रहे सक्रिय,इस दैवीय आपदा से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने पूर्ण रूप से कस ली है कमर,अगर किसी मकान के गिरने पर होती है किसी की मौत तो तत्काल राहत सामग्रियों सहित  सरकारी मुवाबजे की लिए जिलाधिकारी ने दिया है निर्देश।
उधर कानपुर गंगापुल के पास के टीला धस जाने की वजह से कई गड़ियां दब गयी लेकिन किसी के घायल होने की सुचना नही है।